My words

Some words I have written. Recent ones at the top.

  • नाकामयाबी हर बूँद की, जब सैलाब बनकर आयेगी
    हर बूँद पसीना जोड़ कर ही, प्यास ख़्वाबों की जायेगी

  • A little bit of delusion goes a long way.

  • Ego slows you down.

  • Dont outsource your self interest.

  • आज नहीं तो कल मिले, जो ना मिले तो रब मिले
    दुआ है सबको बस यही, ख़ुशियाँ सबको सब मिले

  • कश्मकश में हैं मन बड़ा
    अभी पैर भी थोड़े नम है
    उड़ने की आस लिए बैठे है
    अभी चाह भी थोड़ी कम है

  • वाक़िफ़ नहीं है खुद से
    तेरा खुद पे यक़ीन कम है
    मंज़िल तय नहीं तो क्या?
    रास्ते तेरे फिर भी बुलंद है

  • कुछ साज़ चले कुछ हवा चली
    कुछ लम्बी थोड़ी साँस चली
    एक नज़र से देखा जी भर के
    फिर आगे थोड़ी बात चली

  • सपनो को तुम संभाल के रखो
    सच्चाई से उनको बचा के रखो
    मेहनत दिनभर की काम आएगी
    रात सपनो के लिए बचा के रखो

    सपनो को तुम संभाल के रखो
    सच्चाई से उनको बचा के रखो
    बेड़ियाँ दिनभर भले ही लगी हो
    सपनो की उड़ान बचा के रखो

  • Use fast thinking to remove ambiguity and slow thinking to remove uncertainty

  • Logic goes only so far in changing hearts.

  • I have direct channel to god but just lost the encryption keys. So nothing makes sense.

  • धोखा दे दिया लफ़्ज़ों ने, होंठों ने हार मान ली
    चुप्पी साध ली हमने भी, कहानियाँ कुछ बाक़ी थी

  • हर शिखर पे मेरा नाम हो
    हर शहर में मेरा पाँव हो
    हर दिल में मेरा चेहरा बसे
    हर दुआ में मेरा नाम हो

  • A tight hug and a tight slap can fix just about everything.

  • कुछ तो बात होगी, तुम्हारी भी फ़रियाद होगी
    शतरंज का खेल है ये, तुम्हारी भी मात होगी

  • हुस्नवालों को ढूँढ रहा हूँ, बस एक मौक़े की तलाश है
    बाक़ी कातिल सब पकड़े गए, बस तेरी अब तलाश है

  • जादू है या टोना है? इश्क़ है तो रोना है
    जागा हूँ बहुत यारों, अब मुझे सोना है

  • कुछ पाने की ख़ुशी रही, कुछ जाने के गम
    कुछ क़िस्मत के मारे, कुछ दरियादिली हम

  • बेगुनाह नहीं है वो, बड़ी बेरहमी से मारा है
    आँखो में उसने आज, फिर काजल डाला है

  • भरोसा रख, क़िस्मत तेरी भी जागेगी
    माँगने से कँहा मिलते है दर्द किसिको

  • खामोशी अभी ज़िंदा है, टटोल कर उसे मत देखो
    जाग जाएगी जिस दिन, चुप कर देगी सन्नाटे को

  • मना कर दो लफ़्ज़ों को
    खामोशी अभी व्यस्त है,
    पहुँचाना है उसे बहुत दूर,
    इस सन्नाटे की गूंज को

  • वक़्त से भिड़ा हूँ, अभी नहीं मुड़ा हूँ
    कामयाब नहीं हूँ, कोशिश में जुड़ा हूँ

    ज़मीन से जुड़ा हूँ, वही पे खड़ा हूँ
    हार नहीं मानूँगा, ज़िद पे अड़ा हूँ

  • बेहतर ढूँढते हुए बेहतरीन को खो दिया
    सब पाने की चाह में, खुद को खो दिया

  • बेहतर ढूँढते हुए बेहतरीन को खो दिया
    वो बातें करते रहे, हमने दिल खो दिया

  • बेहतर ढूँढते हुए बेहतरीन को खो दिया
    उसको पाने की चाह में, खुद को खो दिया

  • शब मिले कुछ शब्द मिले
    Lockdown के अंत में
    नए मिले कुछ वही पुराने
    लोग मिल लिए खुद से

  • मैं था, तू थी, सोचा बारी थी हमारी
    पता कहाँ था, शुरू होनी थी कहानी

  • जेब में थोड़े सिक्के बचा कर, चल दिया उम्मीदों से
    बच्चा है वो, नहीं जानता, क़िस्मत कितनी महँगी है

  • पास आने के काफ़ी तरीक़े थे,
    और दूर जाने के कई बहाने
    मैं सपनों में आने की सोचता रहा
    और वो चाई पी के टालते गए

  • कुछ साल पुराने, सवाल कुछ नए
    कुछ बाते वही, कमाल कुछ नए

    ख़ामोशी लेकर मेरी, बेताब कर गए
    साल के ये दिन बेमिसाल कर गए

  • ख़ामोशी लेकर मेरी, बेताब कर गई
    तौफे में ये ज़िन्दगी, बेकार कर गई

    सुकून से रहता था, तार तार कर गई
    बंज़र से दिल को, बागबान कर गई

    सपनो में मेरे आकर, लाचार कर गई
    मौके से ये ज़िन्दगी, बेहाल कर गई

    पलट कर मुज पे भी, वार कर गई
    ज़माने से हार कर, इनकार कर गई

  • कभी जो दिन ढले तो पास आना, अपनो की तरह कुछ गीत गुनगुनाना
    थोड़ा मनाऊ कभी तो मान जाना, कभी जो हार जाऊ तो साथ आना

  • सवालो की सवलियत नही, ना जवाबो की दास्तान 
    आधी अधूरी किताब हू, अभी क्या ही मेरी पहचान  

  • सवालो की सवलियत नही, ना जवाबो की दास्तान 
    आधी अधूरी किताब हू, यहा क्या ही मेरी पहचान  

  • सवालो की सवलियत नही, ना जवाबो की दास्तान 
    आधी अधूरी किताब हू, तुम क्या जानो मेरी कहानी  

  • Happiness is being the fish in the water. Wisdom is knowing you are in water-tank.

  • Brave, not blind.

  • सपनो का मंदिर बनाओ, मेहनत की सीढिया
    ये मुंबई है भाई, यँहा सब के angle होते है

  • पल भर की तो बात थी, हमारी भी तो कोई आस थी
    आँख खुली तो पता चला, खुद की क्या औकात थी

  • खुदाई खुदा ने कब की छोड़ दी, अब सब यँहा इंसान है
    जात-भात के भेद छोड़ो, यँहा सब की एक ही पहचान है

  • वक़्त थोड़ा धीरे चल रहा है, तो यादें कुछ समेट लो
    कुछ कहानिया हमारी सुन लो, कुछ नयी बटोर लो

  • फूलो से तुम थोड़ा हसना सीखो, ये मौसम की लहेरो से मचलना सीखो
    वक़्त का क्या है कब बदल जाये, तुम आये हो तो, थोड़ा ठहरना भी सीखो

  • फूलो से तुम थोड़ा हसना सीखो, ये मौसम की लहेरो से मचलना सीखो
    वक़्त का क्या है कभी भी बदल जाये, तुम खुद को थोड़ा बदलना सीखो

  • सपने देखना गुनाह है, तो नाम मेरा भी जोड़ दो
    कूद जाओ दरिया में, ये कोशिशे करना छोड़ दो

  • π π का हिसाब होगा, हर गुनाह उसकी किताब में होगा
    उपर वाला सब देख रहा है, हर किसका इन्साफ होगा
    #HappyPiDay

  • परिंदे उड़ना जानते है
    तुम पर फ़ैलाने तो दो
    हर ख़ुशी कदमो में होगी
    तुम थोड़ी कोशिश तो करो

  • पता बता दो ख़ुदा का,
    फ़रियाद कुछ करनी है
    थाम के रखो वक़्त को
    बातें अभी कुछ करनी है

  • कुछ साल बीत गए, पहचान छूट गयी
    भीड़ थोड़ी बढ़ गयी, इंसान बस छूट गए

  • रास्तों में राहे ढूँढ रहा हु,
    तारो में इशारे ढूँढ रहा हु
    उजाला करने निकला था,
    अब बस परछाई ढूँढ रहा हु

  • बात भरोसे की नहीं है, विश्वास अभी भी बहुत है
    शिकायत सिर्फ़ इतनी है की बातें कुछ अनकही है

  • Life is not encyclopedia. Its wikipedia. You can change it.

  • दुखी लग रहे हो बहुत, नाराज़ हम भी अभी
    साथ थे हम दोनों कभी, तस्वीर में ही सही

  • तस्वीर में हम दोनों ही थे, और थी यादे कुछ पुरानी
    मलाल सिर्फ इतना रह गया, की कुछ बाते थी सुनानी

  • कहते है लोग बड़ा शहर है, यहाँ सब मिल जाता है
    अभी तक तो सिर्फ़ लाशें मिली है, इंसान ढूँढते हुए

  • कोशिशें बहुत कर ली हमने, पूरी ईमानदारी से
    पर जीत पाया है कौन, क़िस्मत की ग़द्दारी से

  • शायर को मैं दर्द बेच दु
    लफ़्ज़ों में मैं मर्ज़ बेच दु

    बैंक को मैं क़र्ज़ बेच दु
    बाग़ी को मैं फ़र्ज़ बेच दु

    बचके रहना, गुजराती हु,
    ख़ुदा को भी भस्म बेच दु

    — गुजराती by Dharmesh

  • मुद्दतों के बाद मिला है, सुकून ठीक से सोने का
    क्या चाहते हो? इसे भी छोड़ दु, यादों के बहाने?

  • मुद्दतों के बाद मिला है, हौसला कुछ कर दिखाने का
    इतनी आसानी से हार मान लू? मैं भी थोड़ा ज़िद्दी हूँ

  • कुछ न कुछ तो बात रही होगी, ऐसे ही मुलाकात नहीं हुई होगी
    माना भगवान को नहीं मानते, पर मरज़ी उसकी भी कुछ रही होगी

  • ख़ुदा की खुदाई पे शक मत करो
    तुम अपनी औक़ात का दंभ ना करो
    होगा वही जो क़िस्मत में लिखा है
    तुम क्रिश्न की लीला में भंग ना करो

  • Melt your ego, mould it with pain
    Without loosing, no one can gain

  • खोज में खुद की निकल पड़े, पत्थर पूजे हर कोई
    मंज़िल मिली ना रास्ते, हमसफ़र भी मिले ना कोई

  • People often forget that I don’t forget

  • Let go off the weight of unfulfilled expectations, so that it can shoulder your dreams

  • I belive in “loosely prearranged destiny”

  • Be Passionate not Pundit.

  • Sometimes success gets in the way. (may be someone has said this before me?)

  • Do what you want to learn.

  • चर्चा सुना था अख़बारों में, पुलिस में तेरा नाम था
    पता नहीं था कातिल अब, चौबारों पे मिल जाते है

  • Today’s date is also asking just for you (o तू, o तू, तू o तू O) (on 02/02/2020)

  • दुआ करते है मिले जाए मंज़िले हर मुसाफ़िर को
    हमें तो अब बस रास्तों से गुफ़्तगू की ख्वाहिश है

  • खुश लग रहे हो बहुत, नाराज़ हम थोड़े से अभी
    साथ थे हम दोनों कभी, एक तस्वीर में ही सही

  • तस्वीर में हम दोनों थे, और यादे कुछ पुरानी
    टूट गयी तो क्या हुआ, बयां कर गयी कहानी

  • ख़त आज भी कुछ बाक़ी पहुँचाने
    लिफ़ाफ़े कुछ ख़ाली है आज भी
    कोई पता बता दे उसका अगर
    बन जाऊँ डाकिया मैं आज भी

  • शब्दों की अब ज़रूरत नहीं, बस खामोशी का साथ हो
    इज़हार की अब ज़रूरत नहीं, बस इशारों का साथ हो

  • सन्नाटे सुन लो, खुद से मिल लो
    कल का क्या है, पल में जी लो

  • शुक्र मनाओ मैं माहिर नहीं हूँ
    तौर तरीक़ों से वाक़िफ़ नहीं हूँ
    गलती नहीं की, इश्क़ किया है
    गुनाह हुआ है, काफिर नहीं हूँ

  • History knows everything but chooses its words very carefully

  • आतिशी के दम पे तुम उजाला करने निकले हो
    साथ मेरे सूरज और तुम अंधेरा करने निकले हो

    मौक़ा था, मौक़ा है, अभी भी वापस मूड जाओ
    बंजर ज़मीन से आया हु, तुम ख़ंजर देख डरते हो

    माना की थोड़े बदनाम है, थोड़े तुम अनजान भी हो
    पर तुम कोयल की खान में, हीरे से लड़ने निकले हो

    जान लो, कुछ मान लो, अब थोड़ा पहचान भी लो
    जंगल में आए हो तुम, तो शेर को भी थोड़ा जान लो

    खेल मेरा, खिलाड़ी मेरे, तुम ऐसे ही मरने निकले हो
    चले जाओ, संस्कारी हू, क्यू पाप कराने निकले हो

    राम-क़्रिश्ना को मानता हू, काली को भी पूजता हू
    अच्छा हू, तब तक ठीक हू, क्यू बिगाड़ने निकले हो

    पूछते रहते मुझसे लोग, के किसिसे क्यू नहीं डरता हू
    माथे पे कफ़न बांध के, घर से क्या कभी निकले हो ?
    — 🔥 by Dharmesh

  • आँखों की नमी को, बेकार खर्च मत करो
    आंसुओं को खामखा, यूँ बर्बाद मत करो
    ना समझ पाए जो इस पानी की कीमत
    समझेंगे वो क्या इन आँखों के इशारों को

  • किताबे नहीं बता पायेगी, फर्क खुशबू और महक का
    उसको जानने के लिए तो, जनाब जुड़के टूटना पड़ेगा

  • Ruby ढूँढ ने निकला था, पाला पड़ गया Python से
    नाम बदल ने निकला था, वो password बन के चली गयी

  • Ray of light in the dark dark December
    Way of life, may be tough to remember

    Waiting for hope from May to September
    Story doesn’t always end well, remember

  • अखबार पुराने कुछ बचा कर रखे है, बंध यादों के पिटारे में
    फुर्सत कहाँ थी तब पढ़ने की, बस खबरे बनाने में लगे रहे

  • इश्तहार दिए अखबारो में, खबर फिर भी ना आयी
    चलो इसी बहाने थोड़ी तुम और मशहूर हो तो गयी

  • अकेला हूँ पता है, अकेला ही काफ़ी हूँ
    ये लड़ाई मेरी है, क़िस्मत से वाक़िफ़ हूँ

  • जो हूँ काफ़ी हूँ, अभी मैं बाक़ी हूँ
    लड़ूँगा यूँही, क़िस्मत से वाक़िफ़ हूँ

  • चाय तक भी नहीं पिता था,
    मैं इतना सीधा सादा था
    पता चला जब छोड़ गयी,
    के उसमें कितना नशा था

  • कुछ रिश्ते जिन का नाम नहीं
    कुछ क़समे जिन का मान नहीं
    चले जाये वो कितने भी दूर
    कुछ शकस कभी अनजान नहीं

  • वक़्त नहीं आज उनके पास, पल भर की बात का
    पहले जो मेरे प्यार में, रात रात भर जगते थे

  • वक़्त नहीं उनके पास, पल भर की बात का
    पहले जो मेरे प्यार में, रात रात भर जगते थे

  • मालूम है मुझे औक़ात मेरी
    याद दिलाने की ज़रूरत नहीं
    याद रखता हु हर शख्स को
    ग़मों के हिसाब की ज़रूरत नहीं

  • सपना मेरा हर सच होगा
    ज़िद भी हर पूरी होगी
    वक़्त आने पे ख्वाहिश मेरी
    खुद मुझे आकर वक़्त देगी

  • इश्क़ ना करो इतवार सा, जो सोमवार को बदल जाए
    इश्क़ हो तो पतवार सा, जो समुंदर भी पार करा जाए

  • इश्क़ ना करो इतवार सा,
    जो सोमवार को बदल जाए
    इश्क़ करो तो पतवार सा,
    जो दरिया पार करा जाए

  • मंज़िल काहेकि, काहेका सफ़र
    हम तो बस चलते गए, अपनी ही खोज में

  • Expressions will find its way if Emotions Exist

  • Some roads require going through falls and false starts.

  • मुश्किले ना बढ़ाओ, आ जाओ तुम मेरे पास में
    कब तक बैठा रहूँगा मैं, बाँहें खोले यूँ इंतज़ार में

  • ज़िद कहूँ या ज़रूरत तुम्हें, या कहूँ खूबसूरत तुम्हें
    मान जाओ बात मेरी तुम, अब तुजे बस मेरी कहूँ मैं

  • ज़िंदगी कहूँ या ज़रूरत तुम्हें, या कहूँ खूबसूरत तुम्हें
    मान जाओ बात मेरी तुम, अब तुजे कहूँ बस मेरी मैं

  • वक़्त ने की साज़िश, साथ क़िस्मत ने भी ना दिया
    वरना मजाल है किसकी, जो तुम हमसे दूर हो गए

  • वक़्त ने की साज़िश, किया हम दोनो को दूर
    वरना मजाल है किसकी, की तुम हो मुझसे दूर

  • Peace gets costlier as you get richer

  • While shooting for stars, don’t forget to enjoy the stargazing

  • वक़्त वक़्त की बात है
    आज तेरी, कल मेरी ये बात है
    चाहता हु की भूल जाऊ सब कुछ
    पर क्या है ना की ये दिल की बात है

  • कुछ राह मेरी तंग पड़ गयी
    कुछ चाह मेरी कम पड़ गयी
    कुछ अपने थोड़े पराए हो गए
    कुछ कसर थोड़ी वक़्त ने कर दी

  • कुछ राह मेरी तंग पड़ गयी
    कुछ चाह मेरी कम पड़ गयी
    कुछ अपने थोड़े पराए हो गए
    बाक़ी कसर थोड़ी वक़्त ने कर दी

  • The truth is first replaced by silence, then by a lie and then by a permanent silence.

  • Sometimes lie is a silence and sometime silence is a lie.

  • Some lies are worth believing.

  • Chance > Chase

  • वह इश्क़ की ये बातें, वह तेरी मेरी मुलाकाते,
    वह प्यार तेरा मेरा, वह इबादत, वह पनाहे,

  • वह इश्क़ की ये बातें, वह तेरी मेरी मुलाकाते,
    वह प्यार तेरा मेरा, वह प्यार की इबादते

  • वह मेहफ़िल को द्वारे, हम प्यासे ही खड़े है,
    बस प्यार के ही मारे, हम बेबस मर रहे है

  • आधी अधूरी बात में, मेरी तुम्हारी बात में
    ध्यान तुम्हारा उधर है, हम बैठे यह इंतज़ार में

  • वोह इश्क़ का बुलावा, वोह प्यार का फ़साना,
    वोह आँखों के इशारे, वोह मिलने का वादा

  • कीमत प्यार की हम चुकाने को तैयार है,
    रूठो अगर तुम, हम मनाने को तैयार है

  • ख़्वाब मेरा है सुंदर इतना
    जागने का मन नहीं करता
    प्यार तुजसे है करते इतना
    जताने का मन नहीं करता

  • पहले जो मेरे प्यार में, रात रात भर जगते थे
    वक़्त नहीं उनके पास, आज पल भर की बात का

  • वक़्त को अकेला छोड़ दो, वक़्त बड़ा बदनाम है
    आज इसका, कल उसका, नहीं उसका ईमान है

  • कभी इसका, कभी उसका, वक़्त बड़ा बदनाम है
    वक़्त को अकेला छोड़ दो, वक़्त का भी ईमान है

  • What kind of relationship do you have if it can’t survive a passion? What kind of passion do you have if it can’t survive a relationship?

  • Be Santa Claus. Not Satan’s claws.

  • Santa and Satan have the same characters.

  • खामोशी कभी दर्द है
    खामोशी कभी मर्ज़ है
    शब्दों को अभी रहने दो
    खामोशी का अभी क़र्ज़ है

  • खामोशी कभी दर्द है
    खामोशी कभी मर्ज़ है
    लफ़्ज़ तुम अभी रहने दो
    खामोशी का अभी क़र्ज़ है

  • वक़्त वक़्त की बात है
    आज तेरी भी औकात है
    वक़्त आएगा मेरा भी कल
    बस एक रात की बात है

    वक़्त वक़्त की बात है
    आज मेरी भी औकात है
    दुश्मन थे जो कल तक मेरे
    आज वो भी मेरे साथ है

    वक़्त वक़्त की बात है
    यँहा किसकी औक़ात है
    ढूँढ ले किसी अपने को तु
    यहाँ सबकी बस एक रात है

  • वक़्त वक़्त की बात है
    आज तेरी भी औकात है
    वक़्त आएगा मेरा भी कल
    यहाँ सबकी बस एक रात है

  • धुंधली है मंज़िल तो क्या हुआ, सख्त है रास्ते तो क्या हुआ
    निकला हु मैं ख्वाज़िशें लिए, थोड़ा ज़िद्दी सा हु तो क्या हुआ

  • धुंधली है मंज़िल तो क्या हुआ, मुश्किल है रास्ते तो क्या हुआ
    निकला हु ख्वाज़िशें लिए, थोड़ा ज़िद्दी सा हु तो क्या हुआ

  • धुंधली है मंज़िल तो क्या हुआ, मुश्किल है रास्ते तो क्या हुआ
    निकला हु मैं ख्वाज़िश को लिए, थोड़ी देर हुई तो क्या हुआ

  • रास्ते है धुंधले, मंज़िलो का पता नहीं
    साथ है ख़्वाब, वक़्त का अब पता नहीं

  • रास्ते है धुंधले, मंज़िलो का पता नहीं
    साथ बस ख़्वाब, वक़्त का अब पता नहीं

  • रास्ते है धुंधले, मंज़िलो का पता नहीं
    ज़िद पे अपनी अड्डा हुआ हू, अब हर जित का पता नहीं

  • Make money not noise

  • Every choice is a tradeoff, but not every tradeoff is a choice.

  • Embrace your ambitions.

  • Syn > Sin.

  • Machine learning vs Crypto opportunities : Machine learning is moving at a slower pace - hence big co have leverage - adapt, iterate and innovate tech. Crypto is moving faster, hence the opportunities at startups - lots of early experiments, confusion and biz model innovation.

  • Fact + Idiot = Factoid

  • Luck is a scaler function.

  • Religion is scalable cult

  • Use the right tool for the job. Some times the right tool is time, some times its humans and some times its money.

  • If you think I am stupid, its ok. But if you think I am that stupid, we have a problem.

  • Fit your actions to your beliefs, not beliefs to your actions.

  • Choose the hardest problems and the simplest solutions.

  • My definition of introverts/extroverts :
    Ratio of how much you talk out loud / how much you talk in your head.
    The closer the ratio to 0, the more introvert and the closer to 1, the more extrovert.
    P.S. >1 means probably stupid

  • Idealistic enough to believe in ideas, ruthless enough to execute them.

  • The answer of why can not contain I.

  • Curiosity is the cure for imitation

  • Meaning is what gives choices consequences.

  • Intent gives consequences to your choices.

  • You can not move a fort. You have to build it, brick by brick.

  • “Facts are sacred, opinions are for human” - paraphrasing C.P. Scott. - “comment is free, but facts are sacred”.

  • “Expectation deserves to override reality”

  • Dreams, doubts and delusions are all ingredients

  • Don’t be beholden by your own delusions

  • The antidote to fear is not courage but acceptance

  • The smartness is initially about off trends, then about tradeoffs.

  • If you think you are lucky you are not exercising it enough.

  • Be kind with humans, brutal with ideas. Not the other way around.

  • Ambitious : When your taste is ahead of your abilities.

  • Sense of responsibility combined with sense of urgency creates force of action.

  • Accuracy is a post action explanation.

  • Present is underrated.

  • Don’t be stranger to yourself.

  • Be ready to grow, let it go.

  • Time - easy to pass, hard to find, good to use, important to spend, impossible to get back.

  • Luck is in limited supply, always.

  • There is a reason behind everything people do. The most common one being they don’t think.

  • Doubt is fear in disguise.

  • Confusing outcome with the process is the outcome of not following the process.

  • If a lie is repeated again and again, it becomes a social norm.

  • Improbable, not impossible.

  • The goal of goal setting is to be better at setting goals.

  • Should and want cover an entire range of possibilities between them.

  • The purpose of a deadline is to make sure that the question is invalid after it, not the solution.

  • Principles : Rules :: Software : Hardware

  • Do things that matter > Do things > To-do things > Things.

  • Remember, reality is subjective.

  • Decision is the only manual thing in life, rest is automatic.

  • Attention is to respect what money is to power.

  • What doesn’t exist out there is overhead.

  • Data converts art businesses to science ones.

  • Friends : Set of people who you can talk to in context sensitive language using context free grammar.

  • Commitment > Capability.

  • “Freedom, difficult to get, even more difficult to acknowledge”

  • A man with a broken dream and a women with a broken heart are both venerable and dangerous.

  • Don’t focus on making the most, focus on making the best.

  • Each success needs a little bit of luck and each failure a little lack of work.

  • We all know “Its all about software and not hardware”. And we still talk about talent, sadly.

  • In life, like in machine learning, constraints is what makes problems solvable.

  • Leave when the question turns from “why not” to “why”.

  • Guessing is Messing. #data

  • When in doubt, follow the data.

  • I am zipfian, so your experience(s) may widely vary :)

  • Constraint is not a compromise.

  • Generalizations don’t work, generally.

  • Money is always a pointer.

  • People are good, just don’t expect them to be.

  • People are generally good, you just can’t rely them to be.

  • People who think other people “on-demand-google” often forget that these people also have the google-like personalization, which will effect your results next time you query.

  • Why are world and selfishness not listed as synonyms ? mistake or selfishness ?

  • I also wanted to change the world and they didn’t give me source code. So I wrote a better version from scratch and deployed it :D

  • Money can’t solve all the problems. True, but I never wanted to solve NP hard problems. :D

  • Smileys: Fooling people since 30 years. :)

  • I like to pull code, rather than legs.

  • Never say “Nobody understands me”….
    .
    .
    .
    At least Google (and Facebook in part) understand you in much detail.

  • When the choices start becoming compromises, its a sign of maturity.

  • At times people don’t recognize the difference between the chat window and /dev/null.

  • Relationship is the name given to selfishness by the developed society.

  • Programming is not something that you save time for,
    Its something that saves time for you.

  • Code dies, Data lives on.

  • Selfishness - the most realistic motivating factor.

  • There can be endless excuses to Failure and only one reason to Success.

  • Think for a moment before you google. Believe me, can save a lot of effort.

  • Travel is the antidote

  • “All problems in the world can be fixed by tight feedback loops”

  • The goal of goal is to gamify motivation

  • हरा हम सिकंदर को भी देते,
    थोड़ा वक़्त कम पद गया,
    थोड़े हम late हो गए

  • वह हसना तेरा, वह सताना तेरा,
    भूल जाता हु में, वह फसाना मेरा

  • हम इंतज़ार में खड़े है , बाँहे फैलाये
    तुम आओ तो सही कभी चाय के बहाने

  • हम इंतज़ार में खड़े है , बाँहे फैलाये
    तुम आ तो सही, तुम्हे चाय भी पिलाये

  • वो नज़रो का यू ज़ूकना, वो पल्को का यू उठना
    में क्या करू शिकायत, वो खुदा भी तुज पे मिटता

  • वह शायरी ही क्या जिसमे तुम न हो,
    वह शरमाना ही क्या जिसमे हम न हो

  • દૂર છો તો પણ, વાત તો સાંભળવી પડશે,
    હળવે હળવે પણ, હાંક તો આપવી પડશે

  • એક વાત ની એક વાત માં, છું શૂન્ય ની પણ સાથ માં,
    ડર નથી મને આ સમુદ્ર નો, પણ ખોવાય જવા નો મારી વાત માં

  • आँखों में तेरी कुछ इस तरह से डूब गया
    ना प्यार मिला ना पानी, बस ऐस ही मर गया

  • In my dreams,
    sky is beautiful,
    with you on my side,
    time seems plentiful.

    In my dreams,
    clouds seems unstoppable,
    with you on my side,
    everything seems possible.

  • हो अगर आस्था
    आहिस्ता आहिस्ता
    मिल जायेगा रास्ता
    खा ले तू ये pasta

  • हो अगर आस्था
    आहिस्ता आहिस्ता
    मिल जायेगा रास्ता
    कर ले तू नाश्ता

  • ज़िद थी तब अब ज़िंदगी बन गयी हो
    सताओ नहीं अब ज़रूरत बन गयी हो

  • ज़िद थी तब अब ज़रूरत बन गयी हो
    सताओ नहीं अब ज़िंदगी बन गयी हो

  • दिया जला के आज तुम दिवाली तो मना लोगे
    पर क्या होगा उस अँधेरे का जो भीतर तुम्हारे है

  • अंधेरे को कह दो अलविदा, दिवाली और नया साल आया है
    साल भर की खुशियाँ और ढेर सारा प्यार हमने भिजवाए है

  • Dont fight me. If you still want, don’t come without an army.

  • Don’t come to fight me without army

  • राह देख के जिसकी, में दिन रात मर रहा था
    वह खुद तो वैसे ही मरने वाली थी, कैंसर जो हुआ था

  • राह देख के जिसकी, में दिन रात मर रहा था
    वह खुद तो वैसे ही मरने वाली थी, प्यार जो मुझसे हुआ था

  • गाँव से आया हु, अपने पाँव पे आया हु
    मंज़िल पता है, रास्ता मैं नाप के आया हु

  • Don’t hold your tears. Let them.
    So you can hold dreams in them.

  • वह इश्क़ में तेरे हम, समुन्दर से लड़ बैठे
    हमे जाना था उस पर, मर समुन्दर पे बैठे

  • कुछ साये में तेरे मैं बन जाऊ, कुछ तू मेरा साया बन जाए
    कुछ दुआ खुदा से ऐसी कर लू, तू मेरा, बस मेरा हो जाए

  • कायर नहीं था, शायर नहीं था
    इश्क़ में मैं अभी घायल नहीं था
    सिख रहा था इश्क़ के तौर तरीक़े
    मरने मारने में अभी माहिर नहीं था

  • कायर नहीं था, शायर नहीं था
    इश्क़ में मैं अभी घायल नहीं था
    सिख रहा था इश्क़ के तौर तरीक़े
    मोहब्बत के रोग से वाक़िफ़ नहीं था

  • ज़िंदगी मेरी साच है, बस ख़ुशियों की सौग़ाद है
    कल का सोच के क्यू डरूँ, जब आज मेरे पास है

  • मजबूरी है इस लिए मजदूरी कर रहा हूँ, सपने मेरे भी कुछ बुलंद है
    तसल्ली है इस लिए कोशिश कर रहा हूँ, सवाल मेरे भी कुछ पेचीदे से है

  • मजबूरी अपने आप से
    मजदूरी करवा रही है
    छोड़ आया मैं अपनो को
    सपने पाने की चाह में

  • माना की मंज़िल है दूर, पर आसान सवाल तुमने भी नहीं पूछा
    माना कि थोड़ा वक़्त लग जाएगा, पर पीछे हटना भी नहीं सिखा

  • कहती थी वक़्त नहीं था उसके पास
    पता नहीं कँहा मशगूल रहती थी
    हमसे हमारा वक़्त चुरा के
    पता नहीं किस क़ीमत में बेचती थी

  • कहती थी वक़्त नहीं था उसके पास
    पता नहीं कँहा मशगूल रहती थी
    हमसे हमारा वक़्त चुरा के
    पता नहीं कँहा बेचती थी

  • कुछ पाक मेरे इरादे थे, कुछ उसकी शरम ने रोक लिया
    चल पड़ा था सफ़र पे, रिश्तों और क़समो ने रोक लिया

  • कुछ पाक मेरे इरादे थे, कुछ उसकी शरम ने रोक लिया
    निकल ही गया था सफ़र पे, रिश्तों और क़समो ने रोक लिया

  • कश्ती भले ही हो काग़ज़ की, केवट मेरा खुमार है
    रास्ते मिले कभी कभार ही, पर सफ़र मेरा महान है

  • कश्ती भले ही हो काग़ज़ की, केवट मेरा महान था
    रास्ते मिले कभी कभार, पर सफ़र मेरा सुहाना था

  • रामराज भी आएगा और रावण भी मर जाएगा
    तुम मार दो अपनी बुराई को, दशेरा खुद ही आ जाएगा

  • वो साजन मेरा चांद सा
    हर रात सपनो में आता है
    Alarm तुम रुक जाओ ज़रा
    दूर मत करो मेरे ख़्वाब को !

  • सिखाया है ज़िंदगी ने बहुत कुछ
    पर हार मानना अभी नहीं सिखा
    माना कि थोड़ा वक़्त लग गया
    पर पीछे हटना अभी नहीं सिखा

  • ये खेल मेरा है और ये खिलाड़ी भी मेरे है
    जो बोल रहा है तू, वो अल्फ़ाज़ भी मेरे है

  • पाप भी किए है और काफिर भी मैं हु
    इश्क़ में तेरे मैं गुनहगार रब का भी हु

  • पाप भी किए है और काफिर भी मैं हु
    जंग में मेरी मैं गुनहगार रब का भी हु

  • You can ask more if you inspect more.

  • वह कृष्णप्रेम में पागल गोपी की तरह
    वह बांसुरी के सुर में लिपटे गीत की तरह
    ले चल मुझे इस रणभूमि के पार
    हे कृष्ण मुझे अर्जुन की तरह

  • इन ख्वाइशो के चक्कर में,
    क्यों किस्मतो से तू लड़ बैठा
    जाना था तुजे बस दरिया पार,
    क्यों समुन्दर पे तू मर बैठा

  • ज़माने का खौफ, लिखने का शौख,
    बिकते बिकते दोस्त, दोनों ही निकल गए

  • कुछ रास्तो में पीछे, कुछ मंज़िलो से आगे
    तू भाग रहा किधर, तेरी किस्मतो से आगे

  • दुनिया तो है पागल, तू क्यों पगला हो रहा
    समजाना सबको है मुश्किल, तू क्यों खामखा ही लड़ रहा

  • Take facts from hedgehogs and take opinions from foxes

  • Priorities made us who we are
    Priorities took us all apart.

  • ambush, dont fight.

  • My journey, my fight,
    My road into the light.

  • I am picky & time is due,
    I am lucky to have found you.

  • Fly like a bird, flow like the wind,
    You can have it all, just like you dream.